GautambudhnagarGreater NoidaGreater Noida Authority

इंडिगो एयरलाइंस ने ग्रेटर नोएडा एयरपोर्ट के पास प्रशिक्षण हब बनाने का लिया निर्णय। नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास बनेगा पायलट और क्रू मेंबर ट्रेनिंग सेंटर, इंडिगो एयरलाइंस ने मांगी जगह।

इंडिगो एयरलाइंस ने ग्रेटर नोएडा एयरपोर्ट के पास प्रशिक्षण हब बनाने का लिया निर्णय

नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास बनेगा पायलट और क्रू मेंबर ट्रेनिंग सेंटर, इंडिगो एयरलाइंस ने मांगी जगह।

शफी मौहम्मद सैफी

ग्रेटर नोएडा। जेवर में बन रहे एशिया के सबसे बड़े एयरपोर्ट के रनवे का कार्य पूरा हो चुका है. यहां पर हवाई जहाज की टेस्टिंग की तैयारियां भी पूरी हो चुकी है. वहीं, अब इंडिगो एयरलाइंस ने ग्रेटर नोएडा एयरपोर्ट के पास प्रशिक्षण हब बनाने का निर्णय लिया है इस बारे में
यमुना प्राधिकरण सीईओ डॉ अरुणवीर सिंह ने बताया कि जेवर में बनने वाले नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट का कार्य तेजी से चल रहा है. 2024 के अंत तक यहां से उड़ानें शुरू हो जाएंगी. जेवर एयरपोर्ट को बनाने वाली ज्यूरिख कंपनी के साथ इंडिगो एयरलाइंस ने विमान सेवा शुरूकरने के लिए करार किया है.इंडिगो एयरलाइंस ने इसके लिए ग्रेटर नोएडा एयरपोर्ट के पास प्रशिक्षण हब बनाने का निर्णय लिया है. जहां पर पायलट और क्रू मेंबर्स को प्रशिक्षण दिया जाएगा. इंडिगो एयरलाइंस ने इसके लिए यमुना प्राधिकरण से हब बनाने के लिए जमीन की मांग की है यमुना प्राधिकरण के सीईओ डॉ अरुणवीर सिंह ने बताया कि नोएडा इंटरनेशनल एयरपोर्ट के पास इंडिगो एयरलाइंस पायलट ट्रेनिंग सिमुलेशन सेंटर बनाएगा. इस प्रशिक्षण हब को बनाने के लिए कंपनी ने प्राधिकरण से 7.5 एकड़ जमीन की मांग की है.अरुण वीर सिंह ने बताया कि इंडिगो एयरलाइंस के द्वारा इस एयरपोर्ट से पहले फेस में 25 जहाज उड़ाएंगे जाएंगे. वहीं, दूसरे फेस में फिर 25 हवाई जहाज उड़ाएं जाएंगे. इसी प्रकार 6 से 8 महीने में 75 हवाई जहाज यहां से उड़ाए जाएंगे, जिनके लिए यहां पर हब बनाया जाएगा। यमुना प्राधिकरण सीईओ ने बताया कि इंडिगो एयरलाइंस के वाइस प्रेसिडेंट रजत कुमार ने यमुना प्राधिकरण कार्यालय में सोमवार को मुलाकात कर हब बनाने के लिए जमीन का प्रस्ताव दिया है. इंडिगो एयरलाइंस के लिए प्राधिकरण के सेक्टर 29 में 7.5 एकड़ जमीन हब बनाने के लिए दी जाएगी. यहां पर पायलट, क्रू मेंबर सहित विमान की उड़ान से संबंधित अन्य प्रशिक्षण दिया जाएगा. प्राधिकरण और कंपनी के बीच जल्द सैद्धांतिक सहमति बनने पर जमीन का आवंटन किया जाएगा

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button