गौतमबुद्धनगरग्रेटर नोएडा

स्ट्रीट लाइट की केबल या पैनल को क्षति पहुंचाया तो होगी एफआईआर,ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने कांट्रेक्टर के कर्मचारियों को दी चेतावनी

स्ट्रीट लाइट की केबल या पैनल को क्षति पहुंचाया तो होगी एफआईआर,ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने कांट्रेक्टर के कर्मचारियों को दी चेतावनी
शफ़ी मोहम्मद सैफ़ी
ग्रेटर नोएडा। केबल / पैनल को काटकर स्ट्रीट लाइटों को जलने में बाधा पहुंचाने वाले पूर्व कांट्रेक्टर के कर्मचारियों को ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण ने कड़ी चेतावनी दी है। अगर स्ट्रीट लाइटों की केबल/पैनल को काटा गया तो प्राधिकरण इन कर्मचारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कराएगा। इस बाबत सभी वक्त सर्किल के वरिष्ठ प्रबंधकों को निर्देश दे दिए गए हैं।ग्रेटर नोएडा की स्ट्रीट लाइट को एलईडी में कन्वर्ट करने की लिए तथा मौजूदा व्यवस्था को और बेहतर बनाने के लिए प्राधिकरण ने बीते साल सितंबर में सूर्या कंपनी को जिम्मेदारी दी गई है। कंपनी अब तक 42 हजार एलईडी स्ट्रीट लाइट लगा चुकी है। इससे पूर्व प्राधिकरण में अलग-अलग एरिया में अलग-अलग कांट्रेक्टर स्ट्रीट लाइटों का जिम्मा संभाल रहे थे। अब उन कांट्रेक्टरों के कर्मचारी मौजूदा व्यवस्था को क्षति पहुंचाने की कोशिश कर रहे हैं। केबलों व पैनल को काटने और स्ट्रीट लाइट बंद करने की घटना को अंजाम दे रहे हैं। प्राधिकरण ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई करेगा। उनके खिलाफ एफआईआर दर्ज कराई जाएगी। जिन लोगों ने अब तक स्ट्रीट लाइट की केबल को काटकर व्यवस्था को क्षति पहुंचाई है। उनके खिलाफ प्राधिकरण शीघ्र ही थाने में तहरीर देने की तैयारी कर रहा है। सभी वर्क सर्किल के वरिष्ठ प्रबंधकों को इसके लिए निर्देश दे दिए गए हैं।वहीं सूर्या कंपनी अगले एक सप्ताह में स्ट्रीट लाइट की व्यवस्था संभाल लेगी। इस मसले पर मंगलवार को ग्रेटर नोएडा प्राधिकरण के एसीईओ अमनदीप डुली व विद्युत अभियांत्रिकी के उप महाप्रबंधक सलिल यादव की सूर्या कंपनी के प्रतिनिधियों के साथ बैठक हुई। कंपनी ने आश्वस्त किया है कि अगले एक सप्ताह में अब तक लग चुकी 42000 एलईडी स्ट्रीट लाइटों के साथ ही पुरानी 15000 एलईडी स्ट्रीट लाइटों को भी संचालित करने लगेगी। बैठक में सूर्या कंपनी को शेष स्ट्रीट लाइटों को लगाने व डाटा सेंटर स्थापित कर संचालित करने का काम भी 30 सितंबर तक पूरा करने के निर्देश दिए गए हैं।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
×

Powered by WhatsApp Chat

×