उत्तरप्रदेश

विद्या प्रकाशन मंदिर के डिजिटल वेंचर ई विद्या ने ‘यूपी पढ़ता रहे, आगे बढ़ता ई-विद्या ने उत्तर प्रदेश के छात्रों को ऑनलाईन लर्निंग अपनाने में मदद करने के लिए विद्याकुल के साथ हाथ मिलाया।

विद्या प्रकाशन मंदिर के डिजिटल वेंचर ईविद्या ने ‘यूपी पढ़ता रहे, आगे बढ़ता रहे’ पहल के लॉन्च के लिए विद्याकुल के साथ की साझेदारी।
ई-विद्या ने उत्तर प्रदेश के छात्रों को ऑनलाईन लर्निंग अपनाने में मदद करने के लिए विद्याकुल के साथ हाथ मिलाया।
लखनऊ।महामारी के इस दौर में उत्तरप्रदेश के छात्रों को सहयोग प्रदान करने के लिए स्थानीय भाषा के ई-लर्निंग प्लेटफॉर्म विद्याकुल ने प्रकाशन जगत के 40 वर्ष पुराने दिग्गज एवं राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता प्रकाशन मंदिर के डिजिटल लर्निंग उद्यम ई-विद्या के साथ साझेदारी की है, इस साझेदारी के तहत छात्रों को उनकी परीक्षा की तैयारी और बुनियादी स्कूली शिक्षा में मदद की जाएगी। साझेदारी के तहत राज्य के छात्र लाईव डिजिटल ऑनलाईन कक्षाओं का निःशुल्क एक्सेस पा सकेंगे जो विद्या प्रकाशन मंदिर की किताबों तथा बोर्ड परीक्षा की तैयारी के लिए प्रमाणित संसाधनों पर आधारित होंगी।
महामारी के चलते क्षेत्रीय शिक्षा पर बुरा असर पड़ा है क्योंकि छात्रों के पास ऑनलाईन शिक्षा के लिए उचित संसाधन उपलब्ध नहीं हैं। इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए ईविद्या और विद्याकुल ने उत्तरप्रदेश के छात्रों को ऑनलाईन लर्निंग में सहयोग प्रदान करने के लिए एक दूसरे के साथ हाथ मिलाया है। यह साझेदारी तीसरे और चौथे स्तर के शहरों के छात्रों की शिक्षा में सहयोग प्रदान करेगी, उनके लिए गुणवत्तापूर्ण, किफ़ायती शिक्षा संसाधनों को सुलभ बनाएगी जिससे वे लम्बे समय से वंचित हैं। इससे उन्हें अपनी पढ़ाई जारी रखने और आगे बढ़ने का मौका मिलेगा। ईविद्या और विद्या प्रकाशन मंदिर की 40 वर्ष की उत्कृष्टता तथा विद्याकुल का स्वदेशी दृष्टिकोण एवं मार्गदर्शन छात्रों को मौजूदा स्थिति से निपटने में मदद करेगा और वे ऑनलाईन कक्षाओं में हिस्सा लेकर अपने भविष्य के लिए बेहतर तैयारी कर सकेंगे।
कोविड-19 महामारी और इसके कारण एक साल तक चले लॉकडाउन की वजह से ग्रामीण छात्रों को पढ़ाई के ऑनलाईन समाधान एवं ई-लर्निंग को अपनाना पड़ा, किंतु गांवों में सिर्फ 10 फीसदी स्थानीय एवं क्षेत्रीय स्कूल ही ऑनलाईन शिक्षा को अपना पाए। इसी समस्या को ध्यान में रखते हुए ई-विद्या और विद्याकुल कक्षा 9-12 के छात्रों को बोर्ड एवं अन्य परीक्षाओं के लिए घर बैठे विज्ञान एवं गणित की तैयारी में मदद करेंगे। वे बिना किसी शुल्क के इंटेलीजेन्ट एवं स्मार्ट अध्ययन सामग्री का लाभ उठा सकेंगे। कोविड संकट को देखते हुए तीसरे और चौथे स्तर के शहरों के छात्रों को ऑनलाईन शिक्षा के साधन उपलब्ध कराना अनिवार्य हो गया है।
इस संकट के कारण छात्रों की शिक्षा में बड़ी खामियां आ गई हैं, क्योंकि उनके पास ऑनलाईन शिक्षा के लिए बुनियादी साधन उपलब्ध नहीं हैं। डिजिटल भारत अभियान के प्रभाव में, ये शैक्षणिक मंच ग्रामीण छात्रों के लिए उज्जवल भविष्य का मार्ग प्रशस्त कर रहे हैं।
तरूण सैनी, सह-संस्थापक एवं सीईओ, विद्याकुल ने कहा, ‘‘हम भारत के लिए ऑनलाईन स्कूल हैं और यह देखना हमारा कर्तव्य है कि छात्रों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा मिल रही है या नहीं। महामारी के चलते यूपी के छात्रों पर बुरा प्रभाव पड़ा है, क्योंकि उनके पास ऑनलाईन साधन एवं किताबें उपलब्ध नहीं हैं। छात्रों की इसी समस्या को दूर करने के लिए हमने विद्या प्रकाशन के साथ साझेदारी का फैसला लिया, ताकि उन्हें किताबों के लाईव डिजिटल समाधान उपलब्ध कराए जा सकें और वे परीक्षाओं के लिए बेहतर तैयारी कर सकें।’
इन्द्रवीर सिंह, सीईओ, ई-विद्या ने कहा, ‘‘हमारी मूल कंपनी विद्या प्रकाशन पिछले चार दशकों से उत्तर प्रदेश के छात्रों को जांचे-परखे और निश्चित रूप से सफलता दिलाने वाले अकादमिक संसाधन एवं किताबें मुहैया करा रही है। शिक्षा समुदाय के लिए इन सेवाओं को जारी रखते हुए, हमें विद्याकुल के साथ साझेदारी की घोषणा करते हुए बेहद खुशी का अनुभव हो रहा है। विद्याकुल इस क्षेत्र में अग्रणी है और हमारी पहल ‘यूपी पढ़ता रहे, आगे बढ़ता रहे’ में योगदान दे रहा है।  यूपी के छात्रों की शिक्षा पर महामारी का बुरा असर हुआ है और इसी को ध्यान में रखते हुए हमें विद्याकुल के साथ साझेदारी करने और अपनी पुस्तकों के लिए निःशुल्क लाईव समाधान उपलब्ध कराने का फैसला लिया ताकि वे परीक्षाओं के लिए बेहतर तैयारी कर सकें।’
विद्याकुल के बारे में:
2018 में स्थापित विद्याकुल भारत का पहला स्थानीय भाषा का ई-लर्निंग मंच है जो राज्य बोर्ड के छात्रों को अनुभवी अध्यापकों के लाईव व्याख्यानों एवं पहले से रिकॉर्ड किए गए पाठ्यक्रमों के ज़रिए सीखने का अवसर प्रदान करता है। वर्तमान में हम कक्षा 9 से 12 के छात्रों के लिए हिंदी, गुजराती, मराठी और हिंगलिश में पाठ्यक्रम पेश करते हैं।
ई-विद्या के बारे मेंः
विद्या प्रकाशन मंदिर का एडटेक वेंचर ईविद्या एक वन-स्टॉप ईकोचिंग प्लेटफॉर्म (वेब एवं ऐप) तथा  छात्रों के लिए अनुकूल आधुनिक मंच है। जो विभिन्न बोर्ड एवं सरकारी प्रतियोगी परीक्षाओं जैसे यूपीएसएसएससी, यूपी पुलिस, यूपीपीएससी, एसएससी, यूपीएससी, बैंकिंग, रक्षा आदि की तैयारी में महत्वाकांक्षी छात्रों की मदद करता है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
×