उत्तरप्रदेश

शादी में दहेज लेन देन ना करें और शिक्षा को मजबूत करें,अपने बच्चों को आईएएस,पीसीएस,आईपीएस, डॉक्टर ,इंजीनियर बनाने का काम करें। इक़बाल अज़ीज़ सैफ़ी

शादी में दहेज लेन देन ना करें और शिक्षा को मजबूत करें- इक़बाल अज़ीज़ सैफ़ी
मेरठ:- सैफी संघर्ष समिति पंजीकृत का प्रतिनिधि सम्मेलन का आयोजन सफलता पूर्वक संपन्न सैफी संघर्ष समिति पंजीकृत के प्रतिनिधि सम्मेलन की अध्यक्षता सैफी संघर्ष समिति के राष्ट्रीय अध्यक्ष हसीन अहमद सैफी ने की एवं संचालन हाजी इरफान एवं रहीमुद्दीन बावली ने किया।
सैफ़ी वेलफेयर एसोसिएशन ऑफ इंडिया एवं गाजियाबाद सपा नेता इकबाल अजीज सैफी ने अपने विचार रखते हुए समाज के लोगों से दहेज ना लेने देने की अपील की और इस बुराई को जड़ से खत्म करने की बात कही। सैफ़ी जी ने अपने विचारों को व्यक्त करते हुए कहा कि आज हमारे समाज में शिक्षा की बहुत कमी है लिहाजा हमारे एक हाथ में कलम और सैफी होने के नाते एक हाथ में हथोड़ा जिससे हम जाने जाते हैं रहेगा तो हमें कामयाबी मिल पाएगी और समाज के लोगों से अपील की कि देश की राजनीतिक मामलों में भी अपनी हिस्सेदारी को बढ़ाएं ताकि हमारा कोई मुश्किल ना काम रुक पाए और अपने बच्चों को आईएएस,पीसीएस,आईपीएस, डॉक्टर ,इंजीनियर बनाने का काम करें।कार्यक्रम में देश भर से कार्यकर्ता पदाधिकारी एवं प्रतिनिधि शामिल हुए कार्यक्रम मे बिन दहेज के शादी बिहा निकाह को मिन सुन्नति कराने पर जोर दिया गया। समाज में फैली कुरीतियों को ज्यादा से ज्यादा दूर करने के लिए आपसी भाईचारा बनाकर भेदभाव मिटाकर अपने घरों में लड़ाई झगड़े निपटा ने का फैसला लिया गया। जिससे कि थाना कचहरी में सैफी समाज के लोग ना पहुंचे। इसका आह्वान भी किया गया। दूसरे की लड़की को अपनी बहू या नौकरानी ना समझें बल्कि अपनी बेटी बनाकर अपने घरों में निकाह करके लाए और उनको बराबर का दर्जा दें।
कार्यक्रम मे प्रदेश अध्यक्ष मंडल अध्यक्ष जिला अध्यक्ष तहसील विधानसभा तथा भूत अध्यक्ष एवं प्रतिनिधियों को सम्मानित भी किया गया। सैफी समाज के लोगों ने कोविड-19 का पालन किया कार्यक्रम की सुंदरता बढ़ाने के लिए समस्त सैफी समाज के लोगों ने एक दूसरे का एहतमाम करते हुए एक दूसरे को सम्मानित किया। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि कारी शफीक उर रहमान, पूर्व मंत्री हाजी इसरार सैफी,इक़बाल अज़ीज़ सैफ़ी,आर डी गादरे,अखलाक प्रधान,आबिद सैफ़ी लखनऊ, इमरान सैफी,डॉ. आबिद सैफ़ी, हाजी नूर,यूसुफ सैफ़ी, मोहम्मद ताहिर,दानिश सैफ़ी,गुड्डू सैफी, शहज़ाद सैफ़ी,गुलफाम सैफ़ी आदि मौजूद रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close
×